ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
रेखा आर्या द्वारा स्कूटी वाहन देकर पुरस्कृत की गई महिलायें
February 4, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार

 

 

  • रेखा आर्या द्वारा स्कूटी वाहन देकर पुरस्कृत की गई महिलायें
  • ललित जोशी

नैनीताल । जनपद नैनीताल के  एफटीआई हल्द्वानी में एकीकृत आजिविका सहयोग परियोजन अन्तर्गत समेकित डेयरी विकास योजना के कार्यरत 18 महिला पैरावेट्स (पशु सखियों) को कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम उत्कृष्ट कार्य करने हेतु मंत्री पशुपालन, मत्स्य एवं महिला व बाल विकास  रेखा आर्या द्वारा स्कूटी वाहन देकर पुरस्कृत की गई। 
 कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित करते हुये पशुपालन मंत्री श्रीमती  आर्या ने कहा कि कृषकों की आय दुगनी करने के लिए पशुपालन अतिआवश्यक है उन्होने नई पहल के रूप में महिलाओं को पैरावेट्स बनाया गया है जिनके द्वारा पशुओं कृत्रिम गर्भावास में अच्छा काम किया जा रहा है। 
उन्होने पुरूष पैरावेट्स को महिला पैरापवेट्स से सीखने के नसीहत भी दी। उन्होने कहा ऋषिकेश में एकमात्र लिंग वर्गीकृत वीर्य प्रयोगशाला स्थापित की गई है। लिंग वर्गीकृत वीर्य प्रयोग से 90 प्रतिशत बछिया प्राप्त होते है। 
जिससे पशुपालकों को लाभ प्राप्त होगा । उन्होने कहा प्रत्येक पैरावेट्स को प्रति एआई पर 50 रूपये, पशु के गर्भधारण पर 25 रूपये व बछिया होने पर 100 रूपये प्रोत्साहन दिया जायेगा, जिससे पैरावेट्स साथ ही पशुपालकों को लाभ होगा। 
उन्होने कहा पशुपालकों को पशुहानि से आर्थिक नुकसान होता है। उनको आर्थिक नुकसान से बचाने के लिए पशुधन बीमा योजना संचालित की गई है, इसलिए अधिक से अधिक पशुपालको के पशुओं का प्रेरित कर पशुओ का बीमा कराया जाय।
 श्रीमती आर्या ने कहा कि अजिविका विकास एवं पशुधन सुरक्षा पशुधन अतिआवश्यक है इसलिए सभी कास्तकारो को पशुपालन हेते प्रेरित करे व योजनाओ का लाभ पहंुचाये। उन्होने कहा सरकार पशुपालकों के हितो के लिए कार्य कर रही है पैरावेट्स की सभी समंस्याओं का प्राथमिकता से समाधान किया जायेगा।
 कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने कहा कि पशुधन हेतु पशुपालको के प्रेरित करे ताकि प्रदेश में पशुधन को बढाया जा सके। उन्होने कहा इसके लिए सोच बदलने की जरूरत है। पहाड में भैस से ज्यादा गाय पालन वरदान है। 
 कार्यक्रम को निदेशक पशुपालन डा. केके जोशी अपर निदेशक पशुपालन (कुमायू) डा. पी सी कान्डपाल द्वारा विभागीय योजनाओ की विस्तृत जानकारियां दी गई। इस अवसर पर समेकित डेयरी विकास योजना के अन्र्तगत कार्यरत महिला पैरावेट्स (पशु सखियों) को कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 18 महिला पैरावेट्स को स्कूटी दे कर पुरस्कृत किया गया। 
कुमाऊँ मंडल के  जनपद पिथौरागढ की विमला देवी, नीलम चन्द, ममता देवी, अल्मोड़ा की पूजा आर्या, भागा बिष्ट, पूनम रावत, ज्योति रानी, पूजा फत्र्याल , बागेश्वर की चन्द्रा देवी , पूनम आर्या, बबली आर्या, इन्द्रा नेगी, को उत्कृष्ट कार्य के लिय स्कूटी दे कर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में ब्लॅाक प्रमुख रूपा देवी, सीवीओ डा. पीएस भंडारी,डा. उदय शंकर, डा. केके मिश्रा, डा. नेहा चैधरी डा. योगराज सिंह, उत्तराखण्ड लाइवस्टाक डेवलपमेन्ट बोर्ड सहित अनेक अधिकारी व पैरावेट्स मौजूद थे।