ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
पवित्र छड़ी हर की पौड़ी गंगा स्नान के बाद नगर भ्रमण करते हुए पहुंची दक्षेश्वर महादेव मंदिर
September 15, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार

जहाँगीर मलिक

धर्मनगरी हरिद्वार स्थित श्री पंचदशनाम जूना अखाड़े  द्वारा उत्तराखण्ड के चारो धाम और उत्तराखंड के  सभी पावन स्थलों में भ्रमण यात्रा के लिए निकाली जानी वाली प्राचीन पवित्र छड़ी आज सुबह माँ गंगा की पूजा अर्चना के लिए हरकीपैड़ी स्थित पवित्र ब्रहमकुण्ड पहुॅची हरकीपौडी पर हरिद्वार जिलाधिकारी हरिद्वार एसएसपी कई अखाड़ो के वरिष्ठ साधु संतों श्रीगंगा सभा के पदाधिकारियों और तीर्थ पुरोहितो के मौजूदगी में माँ गंगा की पूजा अर्चना की गई और यहां से भ्रमण यात्रा के लिए कनखल स्थित दक्षेश्वर महादेव मंदिर के लिए  पवित्र छड़ी को रवाना किया।वही आगामी 17 सितंबर को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मौजूदगी में पवित्र छड़ी को चारों धाम और पवन तीर्थो पर रवाना किये जाने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। हरकीपौडी पर माँ गंगा की पूजा के बाद साधु संतो ने गंगा पूजन कर केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह व कोरोना के सम्पूर्ण खात्मे की कामना हरिद्वार पवित्र छड़ी को माॅ गंगा में स्नान कराकर केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के शीघ्रस्वस्थ होने तथा वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से मुक्त दिलाने के लिए प्रार्थनाकी गयी। इस दौरान श्रीमहंत हरिगिरि ने बताया अब प्राचीन पवित्र छड़ी 17 सितम्बर को विधिवतउत्तराखण्ड यात्रा पर रवाना हो जाएगी। पूरे उत्तराखण्ड तथा समस्त तीर्थो व चारोंधाम की यात्रा के पश्चात 12अक्टूबर को वापिस मायादेवी मन्दिर हरिद्वार पहुचेगी। जूनाअखाड़ा के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि ने बताया कि हर की पैड़ी पर गंगापूजन के मुख्य यजमान जूना अखाड़े के सभापति श्रीमहंत प्रेमगिरि तथा निरंजनीअखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविन्द्र पुरी थे गंगा पूजन तथा पवित्र छड़ी पूजन में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना सभी संतो द्वारा कीगयी। उन्होने कहा कि केन्द्र तथा उत्तराखण्ड दोनों में दृढ संकल्प व इच्छाशाक्ति का नेतृत्व है। इसलिए जहां कोरोना जैसी वैश्विक महामारी का समूल नाश होगा वहीअगामी कुम्भ मेला 2021भी निर्विघ्न रूप से सकुशल सम्पन्न होगा।  यहा से पवित्र छड़ी नगर भ्रमण करती हुई श्री दक्षेश्वर महादेव मन्दिर कनखल पहुची,जहां विद्वान पुरोहितों ने छड़ी काअभिषेक किया तथा आशुतोष भगवान दक्षेश्वर महादेव की पूजा अर्चना कर यात्रा की सफलता के लिए शंकर भगवान का आर्शीवाद प्राप्त किया। माॅ गंगा तथा श्रीदक्षेश्वर महादेव से समस्त संत समाज ने यही प्रार्थना की है पवित्र छड़ी यात्रा का उददेश्य उत्तराखण्ड मे उपेक्षित हो रहे पौराणिक तीर्थो का जीणोद्वारतािा विकास करना है।