ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
पश्चिम बंगाल के लिए पहली स्पेशल ट्रेन हुई हरिद्वार से रवाना
May 17, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार

जहाँगीर मलिक

  • पश्चिम बंगाल के लिए पहली स्पेशल ट्रेन हुई हरिद्वार से रवाना यात्रियों में खुशी की लहर बोले यह वक्त जिंदगी भर याद रहेगा 

23 मार्च को संपूर्ण देश में हुए लॉक डाउन की वजह से उत्तराखंड राज्य में हजारों बंगाली प्रवासी लोग फंसे हुए थे उत्तराखंड राज्य में यह सभी पश्चिम बंगाल राज्य के प्रवासी विभिन्न कार्य किया करते थे लोक डाउन के चलते इनके यह पर सभी कार्य बंद हो गए और इन पर आर्थिक संकट गहरा गया था जिसके बाद यह सभी प्रवासी अपने राज्य वापस जाना चाहते थे बंगाल की राज्य सरकार ने प्रवासियों को वापिस अपने राज्य में लाने की अनुमति नहीं दी थी जिस कारण अभी तक यह प्रवासी अपने राज्य वापिस नहीं जा पाए थे और उत्तराखंड में ही फसे थे अब पश्चिम बंगाल की सरकार द्वारा अनुमति मिलने पर हरिद्वार से उत्तराखंड राज्य के 11 जिलों से आए 1188 बंगाली प्रवासियों को ट्रैन द्वारा वापस उनके राज्य पश्चिम बंगाल प्रशासन द्वारा भेजा गया हैै

उत्तराखंड राज्य से हरिद्वार और उधमसिंह नगर जिले के बंगाली प्रवासियों को छोड़कर बाकी सभी 11 जिलों के 1108 बंगाली प्रवासियों को आज प्रशासन द्वारा उनके गृह राज्य भेज दिया गया है अपने गृह राज्य जाने पर यह बंगाली प्रवासी काफी खुश नजर आ रहे हैं इनका कहना है कि हम लॉक डाउन के कारण यहां पर फंस गए थे हमारे परिवार वाले हमारी वजह से बंगाल में काफी दुखी थे और हम भी वापस ना जाने की वजह से काफी दुखी थे घर के बुजुर्ग लोगों की देखभाल भी नहीं हो पा रही थी उनकी देखभाल भी हमारे द्वारा ही की जाती है उत्तराखंड सरकार और हरिद्वार प्रशासन द्वारा हमारा यहां पर बहुत ज्यादा सहयोग और मदद की गई है हमे ऐसा लग रहा है कि हम स्वर्ग में जा रहे है हमे यहां लॉक डाउन में व्यतीत किया गया समय युगों तक याद रहेगा हम प्रार्थना करते है कि यह समय हम कभी नही देखे।

ट्रेन को रवाना करने और व्यवस्थाओं को देखने प्रशासन की ओर से हरिद्वार रेलवे स्टेशन पहुंचे अपर जिलाधिकारी केके मिश्रा का कहना है कि यह ट्रेन पश्चिम बंगाल जा रही है और इसमें 1188 यात्री सवार हैं इनमें उत्तराखंड के विभिन्न जिलों से आए यात्रियों को वापस पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा है इन सभी यात्रियों को भेजने से पहले जिन जिलों से यह हरिद्वार आये है वहा मेडिकल जांच और थर्मल स्क्रीनिंग की गई है वही प्रशासन द्वारा इनके भोजन की व्यवस्था भी की है