ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
मुख्यमंत्री ने सीएम हैल्पलाइन 1905 टाॅल फ्री नम्बर प्रारम्भ किया
December 17, 2019 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार
ललित जोशी
 
नैनीताल ।  दूरदराज केे ग्रामीण जनता की समस्याओ के निराकरण के लिए  मुख्यमंत्री ने सीएम हैल्पलाइन 1905 टाॅल-फी्र नम्बर प्रारम्भ किया
 
गया है जिसके माध्यम से आम जनता अपनी शिकायतों को आसानी से दर्ज कराकर उनका समाधान करा सकते है। 
सचिव मुख्यमंत्री एवं आयुक्त कुमायू मंडल राजीव रौतेला ने मुख्यमंत्री हैल्प लाइन एप समस्या निस्तारण सम्बन्धी वीडियो कांफ्रेसिंग करते हुये कहा कि मुख्यमंत्री हैल्प लाइन एवं टाॅल फ्री नम्बर 1905 प्रारम्भ करने का मुख्य उददेश्य दूरस्थ ग्रामीण जनता अपनी शिकायतों एवं परेशानियों को आसानी से विभागीय अधिकारियों तक पहुचा सकें व उनका शीघ्रता से समाधान हो सके, इसलिए अधिकारी जनसमस्याओं के प्रति संवदेनशील हांे व उनका निस्तारण करें। 
श्री रौतेला ने  मण्डल के जिलाधिकारियों व मण्डलीय अधिकारियों से कहा कि वे एल-1 व एल-2 अधिकारियों के कार्यो का नियमित मानिटरिंग कर उनका निस्तारण कराना  सुनिश्चित करें।
 उन्होने कहा कि जिन अधिकारियों द्वारा शिकायतों पर कार्य नही किया जा रहा है उन अधिकारियों को चिन्हित करें ताकि उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जा सके। 
आयुक्त ने कहा कि एल-1, एल-2 स्तर पर कार्य ना होने के कारण शिकायतें एल-3 व एल-4 स्तर पर जो शिकायतें शिफ्ट हो गई है उन्हें भी कार्यवाही कर त्वरित गति से निस्तारित किया जाए, जो अधिकारी ढिलाई बरतेंगे उनके खिलाफ मण्डल व शासन स्तर से कार्यवाही की जायेगी। उन्होने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे मुख्यमंत्री हैल्प लाइन एप मे आ रही समस्याओं के निस्तारण हेतु प्रतिमाह प्रथम सोमवार को बैठक आयोजित करना सुनिश्चित करेें, आयोजित बैठक का कार्यवृत्त आयुक्त व सीएम कार्यालय मे भेजना भी सुनिश्चित करेें। 
एप मे आ रही समस्याओं के निस्तारण हेतु मुख्यमंत्री कार्यालय नोडल मुख्यमंत्री एप रविन्द्रदत्त व उनकी टीम से भी सहयोग लें।  
सचिव मुख्यमंत्री ने कहा कि शिकायतें एल-3, एल-4 स्तर पर अधिक मात्रा मे शिफ्ट हो रही है इसका मतलब है कि जो शिकायतें जनपद स्तर पर ही निस्तारित हो जानी चाहिए थी मगर  एल-1 व एल-2 स्तर के अधिकारी की लापरवाही व ध्यान ना देने के  कारण समस्यायें अगले स्तर पर शिफ्ट हो रही है जिससे जनता की समस्याओं का समाधान नही हो पा रहा है यदि हो रहा है तो उसमें अनावश्यक समय लग रहा है। उन्होने जिलाधिकारियांे को निर्देश दिये कि वे प्रत्येक सप्ताह मुख्यमंत्री हैल्प लाइन मे प्राप्त शिकायतों के निस्तारण सम्बन्धित विभागवार बैठक लें व उनका निस्तारण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शिकायत कर्ता से शिकायत मिलने व उसके निस्तारण के उपरान्त संवाद करें व उसकी संतुष्टि के उपरान्त ही शिकायत निस्तारित मानी जायेगी। आयुक्त ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे दूरदराज पहाडी क्षेत्रों मे सीएम हैल्पलाईन 1905 के होर्डिग्स बैनरों के माध्यम से प्रचार प्रसार करें ताकि अधिक से अधिक जनता हैल्प लाईन का लाभ उठा सकें। 
नैनीताल से वीडियो कांफ्रेसिंग मे शामिल हुये जिलाधिकारी  सविन बंसल ने बताया कि जनपद में मुख्यमंत्री हैल्प लाइन एप टाॅल-फ्री नम्बर 1905 में जो शिकायतें प्राप्त हो रही है उनका प्राथमिकता के आधार पर निराकरण किया जा रहा है।
 उन्होने कहा कि कई शिकायते डिमांड बेस,कोर्ट मामलों, पेंशन, सर्विस प्रकरण से सम्बन्धित प्राप्त हो रही हैं जिनका कम समय में समाधान करना नामुमकिन है। इसलिए ऐसी शिकायतों को हैल्प लाईन मे ना लिये जाने का सुझाव दिया। 
नोडल अधिकारी सीएम हैल्प लाईन रविन्द्रदत्त ने कहा कि जनता की समस्याओं के समाधान में गति आई है लेकिन जो शिकायतें जनपद स्तर एल-1, एल-2 स्तर पर निस्तारित नही हो रही है उन्हे स्पष्ट कारण लिखते हुये एल-3, एल-4 स्तर पर  निस्तारित कराना सुनिश्चित करें।
 उन्होने कहा कि अधिकारी मुख्यमंत्री कार्यालय नोडल मुख्यमंत्री एप व उनकी टीम से भी सहयोग ले सकते है।  
 
वीडियों कांफे्रसिंग मे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, जिलाधिकारी बागेश्वर रंजना,अपर आयुक्त संजय खेतवाल,सम्भागीय परिवहन अधिकारी राजीव मेहरा, मुख्य अभियन्ता सिचाई एमसी पाण्डे, मुख्य अभियन्ता लोनिवि बीएन तिवारी, केपी जोशी, अधीक्षण अभियन्ता पेयजल निगम एसके पंत,निदेशक स्वास्थ कुमायू डा0संजय साह,प्रधानाचार्य मेडिकल कालेज डा0 सीपी भैसोडा, चिकित्सा अधीक्षक एसटीएच डा0 अरूण जोशी, एडी शिक्षा आरएल आर्या सहित अनेक मण्डलीय अधिकारी उपस्थित थे।