ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
कोरोना काल मे झूठी अफवाह फैलाने पर जाना पड़ सकता है जेल
May 11, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार
  • कोरोना काल मे झूठी अफवाह फैलाने पर जाना पड़ सकता है जेल

 

लक्सर: कोरोना संक्रमण को लेकर कई लोग अफवाह फैलाने से बाज नही आ रहे है। ऐसे लोगो पर सरकार द्वारा सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए हुए है। मामला हरिद्वार के लक्सर नगर पालिका क्षेत्र का है जहाँ एक रेडियोलॉजिस्ट को कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह तेजी से फैली हुई है। मगर इस अफवाह पर उस समय ब्रेक लग गया जब लक्सर प्रशासन ने इस अफवाह को सिरे से नकार दिया और अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने चेतावनी दे दी।

अभी हाल ही में रुड़की में मिला कोरोना पोसिटिव काफी दिनों से बीमार था और इसने रूड़की के ही एक निजी अस्पताल में तैनात रेडियोलॉजिस्ट डॉ अंकित अग्रवाल से अल्ट्रासाउंड कराया था। तीन दिन पूर्व ही इसके कोरोना पोसिटिव होने की रिपोर्ट आते ही स्वास्थ्य विभाग ने डॉ अंकित को रूड़की में फैसिलिटी क्वारंटाइन और उसके परिजनों को घर मे ही क्वारंटाइन कर दिया। डॉ अंकित अग्रवाल लक्सर के अग्रवाल नर्सिंग होम संचालक का पुत्र है। लक्सर के प्रभारी एसीएमओ अनिल वर्मा ने  रेडियोलॉजिस्ट डॉ अंकित अग्रवाल को कोरोना होने की अफवाह को सिरे से नकारा है। एसीएमओ का कहना है कि अग्रवाल नर्सिंग होम पूरी तरह से खुला है। नर्सिंग होम संचालक डॉ यशपाल अग्रवाल समेत सभी परिजनों को होम क्वारंटाइन किया गया है। 

वही लक्सर एसडीएम पूरण सिंह राणा का कहना है कि जैसे ही सूचना मिली कि लक्सर निवासी रेडियोलॉजिस्ट डॉ अंकित अग्रवाल ने रुड़की में कोरोना संक्रमित का अल्ट्रासाउंड किया था वैसे ही सरकार की गाइड लाइन के अनुसार उनको रुड़की में ही फैसिलिटी क्वारंटाइन कर दिया था और उसके परिजनों को लक्सर में होम क्वारंटाइन। इस तरह से अफवाह फैलाना गलत है यदि कही भी किसी के द्वारा अफवाह फैलाने की शिकायत सामने आएगी तो उसके खिलाफ तुरंत एफआईआर दर्ज की जाएगी।