ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
कितना रंग लाएगी भगत जी की भक्ति 
January 18, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार
  • कितना रंग लाएगी भगत जी की भक्ति 
  • क्या बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष 2022 में दोबारा बीजेपी की  सरकार ला पाएंगे

 

ब्यूरो रिपोर्ट

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बनते ही वंशीधर भगत ने घोषणा की है कि 2022 में फिर बीजेपी की सरकार बनेगी । जिस प्रकार से अध्यक्ष बनते ही कार्यकर्ताओं के मनोबल बढ़ाने की बात कही है क्या सच मे वो कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा पाएंगे ? क्या कार्यकर्ताओ के मनोबल से ही चुनाव जीता जाएगा या क्या वह मोदी जी के एजेंडे पर या उनके नाम पर 2022 में  सरकार बनाने का दावा अभी से कर रहे है , क्या राज्य सरकार की त्रिवेंद्र सरकार की भी उपलब्धियां चुनाव में गिनवाएँगे क्या सी ए ए के नाम पर चुनाव लड़ा जाएगा , क्या राम मंदिर भी एक मुद्दा होगा, ये कई सारे सवाल हैं जिनका उत्तर उत्तर तो भविष्य में छिपा है । आइये एक नजर भगत जी के इतिहास पर भी डालें

 भगत जी अब तक छह बार विधायक बन चुके हैं ।वर्ष 1975 में जनसंघ पार्टी से जुड़े। इसके बाद उन्होंने किसान संघर्ष समिति बनाकर राजनीति में प्रवेश किया। राम जन्म भूमि आंदोलन में वह 23 दिन अल्मोड़ा जेल में रहे। वर्ष 1989 में उन्होंने नैनीताल-ऊधमसिंह नगर के जिला अध्यक्ष का पद संभाला। वर्ष 1991 में वह पहली बार उत्तर प्रदेश विधानसभा में नैनीताल से विधायक बने। फिर 1993 व 1996 में तीसरी बार नैनीताल के विधायक बने। इस दौरान उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार में खाद्य एंव रसद राज्यमंत्री, पर्वतीय विकास मंत्री, वन राज्य मंत्री का कार्यभार संभाला। वर्ष 2000 में राज्य गठन के बाद वह उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री रहे। वर्ष 2007 में हल्द्वानी विधानसभा के वह चौथी बार विधायक बने। उत्तराखंड सरकार में उन्हें वन और परिवहन मंत्री बनाया गया। इसके बाद 2012 में परिसिमन  कालाढूंगी विधानसभा से उन्होंने फिर विजय प्राप्त की। फिर वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में छठीं जीत दर्ज की।

इस इतिहास को देखते हुए तो लगता है कि भगत जी की  भक्ति 2022 में काम आ सकती है ,अब देखना है कि कार्यकर्ताओ का मनोबल कितना बढ़ता है और 2022 में जनता का रुख किस और बैठता है ?और किसकी सरकार बनती है? क्योंकि प्रदेश की जनता शुरू से पांच साल बाद अपना स्वाद बदलती नजर आ रही है।