ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
किराया मांगने पर यात्रियों ने दिखाया आक्रोश -देखें एक्सक्लूसिव रिपोर्ट
May 3, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस
  • हरिद्वार से राजस्थान रवाना किए राजस्थान के यात्री बस के किराए को लेकर यात्रियों ने दिखाया अपना आक्रोश सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई गई धज्जियां हरिद्वार

हरिद्वार:केंद्र सरकार के आदेश के बाद अलग अलग जगहों पर फंसे लोगों को उनके गृह नगर भेजने के आदेश तो हो गए है मगर इन आदेशों का प्रशासन ढंग से पालन नही करवा पा रहा है यंही नही लोगो को उनके गृह जनपदों में भेजने में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमो की अधिकारियों के सामने ही धज्जियां उड़ाई जा रही है यही नही वापस जाने वालों से रोडवेज की बसों में जबरन उनसे टिकट के पैसे लिए जा रहे है हरिद्वार से करीब 10 बसों में राजस्थान भेजे जा रहे यात्रियों ने बीच रास्ते मे किराए के पैसे मांगे जाने पर जमकर हंगामा किया हंगामे के बाद वापस बसों को जब ले जाया गया तो अधिकारियों की आपसी वार्ता के बाद यात्रियों को निशुल्क बसों में भेजा गया मगर केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार अलग अलग जगहों पर फंसे लोगों को उनके घर तो भेजा जा रहा है मगर उनको भेजे जाने में सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है जिन बसों में यात्रियों को भेजा जा रहा है उनमें यात्रियों को आम दिनों की तरह ही भर भर कर ले जाया जा रहा है बस में ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है और ना ही ज्यादातर यात्री मास्क पहने हुए है यही नही यात्रियों को भेजने से पहले उनकी स्वास्थ्य की जांच के नाम पर भी फॉर्मेलिटी पूरी की जा रही है।

पिछले डेढ़ माह से हरिद्वार में फंसे यात्रियों को केंद्र सरकार के आदेश के बाद घर तक पंहुचाने की उम्मीद तो बंधी मगर उन्हें वापस उनके गृह नगरों में ले जाने के नाम पर प्रशासन ही उनका उत्पीड़न करने लगा राजस्थान के अलग अलग शहरों के हरिद्वार में फंसे सैकड़ो यात्रियों मजदूरों को आज उनके घर वापस भेजा जा रहा था राजस्थान डिपो की बसों से हरिद्वार से आज करीब 450 लोगो को राजस्थान के अलग अलग शहरों को रवाना किया जाना था। राजस्थान परिवहन निगम की बसों में यात्रियों से कंडक्टर किराए की मांग करने लगा बसें रवाना होने से पहले तो उन्हें फ्री में जाने की बात कही गयी मगर बसें रवाना होने के बाद रास्ते मे कंडक्टर ने उनसे किराए के पैसे मांगने शुरू कर दिए जिस पर यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया हंगामे के बाद बसों को वापस हरिद्वार ले आया गया।

यात्रियों को लेकर सभी बसें वापस हरिद्वार आ गयी बस कंडक्टर का कहना है कि उन्हें उनके जयपुर स्थित कंट्रोल रूम से सभी यात्रियों से किराया लेने के आदेश है इसलिए वह बिना किराया लिए बसे लेकर नही जा सकते है।

बसें जब यात्रियों को लेकर वापस हरिद्वार पंहुची तो अधिकारियों ने राजस्थान रोडवेज के अधिकारियों से वार्ता की जिसके बाद सभी यात्रियों को निशुल्क भेजा जा सका पुलिस क्षेत्राधिकारी अभय सिंह का कहना है कि सुबह राजस्थान की बसें हरिद्वार आई थी इसमें उत्तराखंड के यात्री आए थे उन यात्रियों को हमने उत्तराखंड के जनपद में रवाना किया वापस जाते हुए इन बसों को राजस्थान के यात्रियों को लेकर जाना था यह राजस्थान से अलग-अलग जिलों से आई हुई बसे है यात्रियों द्वारा बोला गया था कि हम बसों का किराया देंगे मगर फिर यात्रियों द्वारा किराए को लेकर आपत्ति की गई राजस्थान बसों के कर्मचारियों को आदेश था कि यात्रियों से किराया लिया जाए हमारे प्रकरण संज्ञान में आने के बाद हमने उच्च अधिकारियों बात की जिलाधिकारी और एसएसपी द्वारा इस मामले में वहां के अधिकारियों से वार्ता की गई अब इन यात्रियों से किराया वसूल नहीं किया जाएगा यह बसे जिन जनपदों से आई है इसमें उसी जनपद के यात्री बैठ रहे हैं इसके साथ ही हमारी उत्तराखंड की बसें भी जयपुर जाएगी आज हमारे द्वारा राजस्थान के 4.50 सौ यात्रियों को भेजा गया है