ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
जंगली जानवरों के बाद अब आवारा पशुओ ने किसानों की सैकड़ों बीघा फसल को रौंदा किसानों के सामने आर्थिक संकट
November 24, 2019 • सतोपथ एक्सप्रेस • दुनिया

राजकुमार अग्रवाल डोईवाला 

 

 

जंगली जानवरों के बाद अब आवारा पशुओ ने किसानों की सैकड़ों बीघा फसल को रौंदा।
पीडित किसानोंके सामने गहराया आर्थिक संकट। डोईवाला।

डोईवाला के ग्रामीण क्षेत्रों में जंगली जानवरों के बाद अब आवारा पशु किसानों की खेती को नुकसान पहुंचा रहे है। ऐसा ही मामला कालूवाला गांव का है जहां देर रात आवारा पशुओं का एक झुंड तोडिये के खेत मे घुस गया जहां लगभग 50 बीघा    तोडिया के साथ उड़द 50 बीघा और , 400 बीघा गन्ने की पकी फसल को पूरी तरह तहस नहस कर बर्बाद कर दिया है जिससे अब गाँव के दर्जनों किसानों के सामने जहा आर्थिक संकट खडा हो गया है तो वही गाँव के पीडित किसान खेती से तौबा करने को भी मजबूर होने लगे है।
कालूवाला गांव जंगल से सटा है जहां आजकल क्षेत्रीय लोग अपने पशुओं को जंगल मे छोड़ देते है, ओर रात होते ही यह पशु खेतों का रुख करते है, ओर फसलों को पूरी तरह बर्बाद कर रहे हैं। 
किसानों का आरोप है कि आवारा पशु आये दिन किसानों के खेतों को तबाह कर रहे हैं, ओर किसान इन्हीं फशलों बाजार में बेच अपने घर का गुजारा करते हैं, ओर आये दिन हो रहे नुकसान से किसानों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। जहां किसान दिन रात मेहनत कर खेतों में फसलों को उगाते थे, ओर अब कुछ किसान खेतों में फ़ाशले बोने को कतरा रहें हैं। ग्रामीणों ने सरकार से मांग करते हुवे कहा कि, आवारा पशुओं के लिए पशु बाड़ा बनाया जाना चाहिय, ताकि किसानों को फसलों में हो रहे नुकसान से बचाया जा सके।
गाँव के किसान और नगर पालिका डोईवाला के सभासद नरेश मनवाल ने शासन प्रशासन के साथ ही कृषि विभाग से पीडित किसानों की मदद की मांग करते हुये कहा कि अगर अब भी पीड़ित किसानों की मदद नही की गई तो फ़िर किसान खेती करना छोड़ देगा। मनवाल मे कहा की आवारा पशुओं के लिये सरकार पशु वाडा बनाकर दे ताकि लोगो द्वारा छोडे गये पशुओं को इस वाड़े मे रख सके।
उधर नगर पालिका डोईवाला के चेयरमैन प्रतिनिधि सागर मनवाल ने भी किसानों के नुक्सान की भरपाई की मांग करते हुये कहा की किसानों की साल भर की मेहनत को बर्बाद कर आवारा पशु अब लोगो के लिये भी आफत बने हुये है।
पीडित किसानों मे नरेश मनवाल बीरेंदर कृशाली राजेन्द्र कृशाली दिदार रावत कृपाल भंडारी गजेन्द्र कठेत सुरेन्द्र मनवाल आशा मनवाल गोविंद सिंह बिस्ट हरि सिंह आनंद बिस्ट आदि तमाम किसानों ने शासन प्रशासन ने जंगली जानवरों के साथ आवारा पशुओं से निजात दिलाने की गुहार लगाई है।
- गन्ना, तोडिया, उड़द व लोविया की तेयार फसल को आवारा पशुओं के साथ जंगली जानवरों ने किया बर्बाद।
- नरेश मनवाल व सागर मनवाल ने शासन से पशु वाडा बनाने की मांग