ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
दीवार गिरने से बच्चे की मौत
January 22, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार

ऋषिकेश रजनीश कोहली

स्कूल की दीवार गिरने से एक बचे की मौत व दो हुए घायल।

भारी लापरवाही के चलते स्कूल की दीवार गिरने से एक बच्चे की मौत हो गयी जबकि एक महिला व एक पुरूष गम्भीर रूप से घायल हो गये।

देर शाम तीर्थनगरी के वार्ड नम्बर-पांच के पुष्कर मन्दिर मार्ग पर स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय नम्बर-1 की दीवार अचानक भरभरा कर गिर गयी, जिससे उक्त मार्ग से गुजर रहा एक बच्चा इसकी चपेट में आ गया और दीवार उसके ऊपर गिरने से बच्चे की मौके पर ही मौत हो गयी जिसकी समाचार लिखे जाने तक शिनाख्त नही हो पायी, जबकि उक्त मार्ग से गुजर रहे राहगीर कृपाल सिंह निवासी शांतिनगर व स्नेहलता गुप्ता पत्नी सतपाल गुप्ता भी उक्त दीवार की चपेट में आ गए जिससे उनके पैरों व सिर पर गम्भीर चोटें आयी जिन्हें तत्काल राजकीय चिकित्सालय पहुँचाया जहां से स्नेहलता गुप्ता की स्थिति नाजुक देखते हुए हायर सेंटर एम्स भेज दिया गया।

घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी रितेश साह पुलिस कर्मियों के साथ घटना स्थल पर पहुँचे और बच्चे व घायलों को हॉस्पिटल पहुँचाया तथा उक्त मार्ग पर शेष दीवार गिरने की सम्भावना के चलते मार्ग को बन्द कर दिया गया व नगर निगम से जेसीबी मशीन मंगवाकर शेष दीवार को गिरवाया गया।

आश्चर्यजनक है कि जिस मार्ग पर उक्त घटना घटी वह मार्ग नगर निगम मेयर के आवास को भी जाता है, और बताया जा रहा है कि उक्त दीवार कई माह से सड़क की और झुकी हुई थी लेकिन किसी ने भी दीवार को ठीक करवाने की जहमत नही उठाई, जबकि स्कूल कर्मचारियों का कहना था कि उक्त कई मीटर लम्बी सड़क की ओर झुकी दीवार के बारे में कई बार स्थानीय विधायक व नगर निगम को बताया जा चुका था लेकिन महज आश्वाशन के चलते उक्त दीवार ठीक नही हो पायी जबकि उक्त दीवार के साथ गुजर रहे मार्ग से रोज कई लोगों की आवाजाही होती है और जिस समय उक्त दीवार गिरी उससे पहले ही ट्यूशन पढ़ने वाले दर्जनों बच्चे सड़क से गुजरे थे गनीमत रही उक्त दीवार तब नही गिरी नही तो एक बड़ा हादसा हो सकता था, मौके पर पहुंची नगर निगम मेयर ने घटना में मृतक बच्चे के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए घटना को महज दुखद बताया, वही जब मेयर महोदया से उक्त दीवार के सम्बंध में जानकारी होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने अनभिज्ञता प्रकट की।