ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
बर्फबारी से होने वाली समस्याओं के निराकरण के लिए जिलाधिकारी ने ली बैठक
December 3, 2019 • सतोपथ एक्सप्रेस • देश

ललित जोशी

नैनीताल  । शरदकाल में जनपद के पर्वतीय इलाकांे मे बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है। बर्फबारी से होने वाली दुस्वारियोें का दूर करने तथा जनसामान्य एवं यातायात को बहाल बनाये जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी  सविन बंसल ने सम्बन्धित महकमो ंके साथ महत्वपूर्ण बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। 
  बंसल ने अधिकारियो ंसे कहा कि दिसम्बर का महिना शुरू हो चुका है दिसम्बर से फरवरी के मध्य जिले में खासतौर पर पर्वतीय इलाकों तथा पर्यटक नगरी नैनीताल मे बर्फबारी की सम्भावना बनी रहती है इतिहास रहा है कि भंयकर बर्फबारी से जनसामान्य प्रभावित हुआ है। उन्होने अधिकारियों से कहा कि बर्फबारी के बाद सडकों पर से तत्काल बर्फ हटाने के लिए सम्बन्धित क्षेत्रों में जेसीबी की व्यवस्था के साथ ही स्टाफ की तैनाती कर दें। मुक्तेश्वर, रामगढ, गागर, भटेलिया, धानाचुली, किलबरी, बारापत्थर, शेरकाडांडा मे काफी बर्फबारी होती हेै लिहाजा इन स्थानों पर अतिक्ति जेसीबी किराये पर लेकर रखी जाएं ताकि हिमपात होेने के बाद तत्काल सडकों को खोला जा सके। उन्होने कहा कि बर्फबारी से किसी भी प्रकार का यातायात प्रभावित नही होना चाहिए, सडकें बर्फबारी के कुछ समय बाद खुल सकें। उन्होने विद्युत महकमे के अधिकारियों से कहा कि हिमपात के दौरान तथा बाद मेें किसी भी प्र्रकार की विद्युत आपूर्ति ना होने पाये। उन्होने कहा कि बर्फबारी क्षेत्रों मे जो जीर्णशीर्ण पेड़ है उनको हटाने तथा पेडों की छटाई का काम अभी से कर लिया जाए ताकि हिमपात के दौरान विद्युत आपूर्ति बाधित ना होने पाये।
 जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन से कहा कि वह प्रभावित क्षेत्रों के लिए प्रचुर खाद्यान कैरोसिन व गैस की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें। इसके साथ ही हिमवारी प्रभावित क्षेत्रों मे डीजल पेट्रोल की व्यवस्था भी बना ली जाए। उन्होने जल संस्थान के अधिशासी अभियन्ता संतोष कुमार उपाध्याय से कहा कि हिमपात के दौरान पेयजल आपूर्ति बनाये रखने के लिए अभी से इंतजाम मुकम्मल कर लिये जाएं। उन्होने कहा कि आपदा से सम्बन्धित विभाग आपदा कन्ट्रोल रूम के सम्पर्क मे रहेंगे तथा सूचनाओं का आदान-प्रदान करेंगे। 
 बैठक मे अपर जिलाधिकारी प्रशासन कैलाश टोलिया, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व सुरेन्द्र सिह जंगपांगी, उपजिलाधिकारी विनोद कुमार, विवेक राय, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि डीएस कुटियाल,एबी काण्डपाल, मीना  भटट, महेन्द्र कुमार के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।