ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
बन्द पड़े जन औषधि केन्द्रों को जनवरी अन्त तक सुचारू किया जाएगा। 
January 2, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार
ललित जोशी नैनीताल
 
नैनीताल । रेडक्राॅस सोसाईटी मुख्य उद्देश्य समाज के कमजोर, असहाय और गरीब वर्ग को विशेष आर्थिक सहायता प्रदान करना व पीड़ित मानवता की सेवा करना है। इसको जनपद में चिरतार्थ करने के लिए जिलाधिकारी ने सविन बंसल ने बीड़ा उठाया।
 उन्होंने कहा कि वित्तीय अनियमित्ताओं के कारण बन्द पड़े जन औषधि केन्द्रों को जनवरी अन्त तक सुचारू किया जाएगा। 
अध्यक्ष रेडक्राॅस सोसाईटी श्री बंसल ने कुन्दन लाल, मा.करामत हुसैन व शान्ति देवी को बीमारी उपचार हेतु 5-5 हजार रूपये की आर्थिक सहायता देने की स्वीकृति दी।
जिलाधिकारी श्री बंसल ने बुद्धवार को जिला कार्यालय सभागार में रेडक्राॅस की बैठक लेते हुए निर्देश दिए कि सभी चिकित्सालयों के पीएमएस, सीएमएस अपने चिकित्सकों से दवाओं की मांग लेते हुए शीघ्र उपलब्ध कराये ताकि जन औषधि केन्द्रों के लिए दवाओं की मांग बीपीपीआई को भेजी जा सके। 
श्री बंसल ने एक्सायरी दवाईयाॅ कंपनी से 7 दिन के भीतर उठवाने के निर्देश सचिव रेडक्रॅास को दिए, यदि कम्पनी नही उठती है तो 15 दिन के भीतर दवाएँ नियमानुसार नष्ट कर दी जाएं। 
श्री बंसल ने निर्देश दिए कि जन औषधि केन्द्रों को नियम विरूद्ध एवं बिना आॅर्डर के उपलब्ध करायी गयी दवाईयों का भुगतान का निर्णय स्पेशल आॅडिट रिपोर्ट मिलने के उपरान्त ही लिया जाएगा। 
स्पेशल आॅडिट टीम शीघ्र जनपद में आॅडिट हेतु आ रही है, जिससे पूर्व में हुई अनियमित्ताऐं उजागर होंगी। श्री बंसल ने कहा कि सोसाईटी को किसी भी दशा में हानि नहीं पहुॅचने दी जाएगी। 
जिलाधिकारी ने कहा कि जन औषधि केन्द्र चिकित्सालयों के अभिन्न अंग हैं, जिन चिकित्सालयों में जन औषधि केन्द्र संचालित हैं, सम्बन्धित चिकित्साधीक्षक व मुख्य चिकित्साधीक्षक जन औषधि केन्द्रों का सक्रियता से नियमित निरीक्षण व अनुश्रवण करेंगे। 
औषधि केन्द्रों के फार्मेसिस्ट चिकित्सालय के नियमिति फार्मेसिस्ट की देखरेख में स्टाॅक रजिस्टर व एक्सपायरी रजिस्टर में नियमित अंकन करना सुनिश्चित करेंगे। 
उन्होंने कहा कि जन औषधि केन्द्रों में तैनात फार्मेसिस्टों का वैतन सीएमएस एवं पीएमएस के सत्यापन के उपरान्त ही आहरित किया जाएगा। 
जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि जनपद में रेडक्रॉस सोसाइटी द्वारा ही प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र चलाये जाएंगे, साथ ही पर्चेज तथा मोनिटरिंग कमेटी जिसमें सचिव रेडक्रॉस, संबंधित हॉस्पिटल के पीएमएस/सीएमएस, कोषाधिकारी, औषधि निरीक्षक, चीफ फार्मेसिस्ट, रेडक्रॉस सोसाइटी का एक सदस्य को शामिल हैं, ये कमेटी तीन दिन के भीतर बैठक कर दवाईयों की चेक लिस्ट बनाकर अनुमोदन लेना सुनिश्चित करे ताकि दवाईयों का पर्चेज़ आर्डर बीपीपीआई को दिया जा सके। श्री बंसल ने कहा कि जिन चिकित्सालयों में जन औषधि केन्द्र संचालित हैं, उन चिकित्सालयों में माइक द्वारा एनाउंसमेंट भी कराया जाए ताकि मरीजों को जन औषधि केन्द्र की जानकारी हो सके, साथ ही चिकित्सालय पर्ची पर भी जन औषधि केन्द्र की मोहर भी लगाई जाये।
अध्यक्ष रेडक्रॉस सोसाइटी एवं जिलाधिकारी सविन बंसल ने जनपद में पूर्व में संचालित 6 चिकित्सालयों में पीएम भारतीय जन औषधि केंद्र संचालित किए जा रहे थे, उनमे कार्यरत फार्मेसिस्टों का सत्यापन करने के निर्देश दिए। 
जन औषधि केंद्रों में जेनरिक दवाओं की खरीद सीधे बीपीपीआई से की जाए, खरीदी हुई दवाओं का नियमित ऑनलाइन व ऑफ लाइन अंकन अनिवार्य रूप से किया जाए। 
जन औषधि केंद्र में दवाओं की खरीद संबंधित चिकित्सालयों के चिकित्सा अधीक्षकों, चिकित्सकों व चीफ फार्मेसिस्टों से विचार विमर्श के उपरान्त ही खरीदी जाऐं। दवाइयाँ बीपीपीआई से सीधे खरीदी जाएँ तथा वेंडर को दवाईयों का पर्चेज ऑर्डर कतई नहीं दिया जाएगा। 
बैठक में सचिव डाॅ.रश्मि पन्त, सीएमएस डाॅ.भागीरथी जोशी, एमएस सुशीला तिवारी चिकित्सालय डाॅ.अरूण जोशी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.टीके टम्टा, डाॅ.एमएम तिवारी, औषधि निरीक्षक मीनाक्षी बिष्ट, डाॅ.बीडी जोशी, डाॅ.अजय नैथानी, डाॅ.अरविन्द सहित जन औषधि केन्द्रों के फार्मेसिस्ट मौजूद थे।