ALL समाचार मनोरंजन खेल अध्यात्म देश दुनिया ब्रेकिंग राज्य ज्योतिष BUSINESS
अपहृत पार्षद गाजियाबाद से बरामद
January 19, 2020 • सतोपथ एक्सप्रेस • समाचार
  • अपहृत पार्षद गाजियाबाद से बरामद

 

शाहिद खान रुुद्रपुर ऊधमसिंह नगर 

      रुद्रपुर से कांग्रेसी पार्षद के अपहरण में मामले में पुलिस ने पार्षद अमित मिश्रा को गाजियाबाद से बरामद कर लिया है। 15 जनवरी को कांग्रेसी पार्षद अमित मिश्रा का अज्ञात बदमाशों द्वारा अपहरण कर लिया था जिसके बाद से ही पुलिस की कई टीमें उत्तर प्रदेश के कई जिलों में ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी जिसके बाद कल देर रात पुलिस दबाव में बदमाशों ने अमित मिश्रा को गाजियाबाद मैं छोड़कर फरार हो गये।

    ऊधमसिंह नगर के रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के प्रीत विहार से कांग्रेसी पार्षद के अपहरण कांड का आज पुलिस ने खुलासा किया है पुलिस ने अपहरण हुए पार्षद को गाजियाबाद से बरामद किया है। साथ ही पुलिस ने दावा किया है कि पार्षद को छोड़ने के एवज में किसी भी तरह की फिरौती बदमाशों को नहीं दी गई है पार्षद को छुड़ाने के लिए गाजियाबाद पुलिस की भी मदद ली गई थी।

       रूद्रपुर नगर निगम में वार्ड 21 से कांग्रेसी पार्षद अमित मिश्रा का प्रितबिहार से 15 जनवरी को अज्ञात बदमासो ने अपहरण कर लिया था। मामले में अमित की माँ द्वारा 16 जनवरी को कोतवाली में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद से ही जिले के कप्तान बरिंदर जीत सिंह ने जिले के क़ई थानों की टीम और एसओजी को पार्षद की बरामदगी के लिए लगाया था। कल देर रात जिले की पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस की मदद से अपहरण हुए अमित मिश्रा को गाजियाबाद से बरामद किया है। पुलिस के मुताबिक 15 जनवरी को पार्षद को बदमाश एक कार में बैठा कर अपने साथ रामपुर होते हुए गाजियाबाद ले गए थे। जिसके बाद बदमासो द्वारा पार्षद के परिजनों को फोन कर 20 लाख रुपये की डिमांड की थी। इसके बाद अमित के परिजनों द्वारा बदमाशो को देने कर लिए 10 लाख रुपये का इंतजाम भी कर लिया था। घटना की जैसे ही जानकारी पुलिस को मिली तो जिले के अधिकारियों और कर्मचारियों को घटना के खुलासे के लिए लगाया गया। इस दौरान पुलिस को बदमासो की लोकेशन गाजियाबाद में मिली जिसके बाद पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस की मदद से सभी रास्तों में नाकेबंदी की। जिसके दबाव में बदमास पार्षद को एक अनजान सड़क में छोड़ गए जिसके बाद पार्षद अमित मिश्रा द्वारा एक कैब चालक के फोन से अपने मित्र को जानकारी दी गयी। मौके पर पहुची पुलिस ने पार्षद अमित मिश्रा को उस जगह से सकुशल बरामद किया। पुलिस ने दावा किया है कि इस दौरान अपहरणकर्ताओं को किसी भी तरह की फिरौती नही दी गयी है। जो रकम 10 लाख रुपये परिवारजनों द्वारा ले जाया गया था उसे भी पुलिस ने बरामद कर कब्जे में ले लिया है। 

वही एसएसपी बरिंदर जीत सिंह ने बताया कि पार्षद के अपहरण के बाद पुलिस के दबाव में बदमासो द्वारा पार्षद को कल देर रात गाजियाबाद के एक अनजान जगह छोड़ दिया था। घटना की जांच की जा रही है अभी तक बदमासो के गैंग का पता नही लग पाया है साथ ही लोकल व्यक्ति के होने की संभावना बनी हुई है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही बदमासो को भी दबोचा जाएगा।